उत्‍तर प्रदेश में एक और फर्जीवाड़ा, एक पैन नंबर और अलग बैंक खाते वाले मिले 192 शिक्षक। – लखनऊ

उत्‍तर प्रदेश में एक और फर्जीवाड़ा, एक पैन नंबर और अलग बैंक खाते वाले मिले 192 शिक्षक।

The Netizen News

उत्‍तर प्रदेश में अनामिका शुक्‍ला प्रकरण के बाद बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों में शिक्षकों की नियुक्तियों में बड़ी हेराफेरी पकड़ी गई है। इन फर्जी शिक्षकों के वेतन भुगतान में भी फर्जीवाड़ा का बड़ा मामला सामने आया है।

अभिलेखों की जांच में प्रदेश में 192 मामले ऐसे मिले हैं, जिसमें एक नाम और पैन नंबर की दो अलग-अलग एंट्री कई जिलों की फाइलों में दर्ज है। केवल उनका खाता नंबर अलग है।

इसी तरह से 24 प्रकरण ऐसे हैं, जिसमें एक ही बैंक खाता नंबर अलग शिक्षकों के सम्मुख अंकित है। इसमें बलिया के भी 11 शिक्षक शामिल है।

अपर मुख्य सचिव (बेसिक शिक्षा) की तरफ से इन शिक्षकों की सूची बीएसए को मिल गई है, जिसके तत्काल बाद बीएसए ने नोटिस जारी कर इन शिक्षकों को तलब किया है।

इन दिनों शिक्षकों के वेतन संबंधी अभिलेखों का भी परीक्षण हो रहा है। वित्त नियंत्रक बेसिक प्रयागराज ने मई माह के वतन भुगतान की रिपोर्ट 21 जून को सौंपी थी।

इसमें सामने आया है कि 192 प्रकरण ऐसे हैं, जिसमें एक ही नाम व पैन नंबर की दो अलग-अलग एंट्री विभिन्‍न जिलों की फाइलों में है, लेकिन उसका खाता नंबर अलग है। इसी तरह से कुल 24 प्रकरण में एक ही बैंक खाता नंबर दो अलग शिक्षकों के नाम के समक्ष दर्ज है।

अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा रेणुका कुमार ने इसे बेहद संदिग्ध व आपत्तिजनक करार देते हुए लिखा है कि ये प्रकरण पर्यवेक्षण की विफलता को दर्शाते हैं।

उन्होंने शिक्षकों के वेतन संबंधी अभिलेखों का परीक्षण कराकर ऐसे प्रकरणों को चिह्नित करने के साथ ही अधिकारियों की जिम्मेदारी तय करते हुए तीन दिन में रिपोर्ट मांगा है।

11 शिक्षकों पर लटकी कार्रवाई की तलवार

बलिया जिले में भी अनियमित एवं नियम विरुद्ध तरीके से नियुक्त 11 शिक्षकों पर कार्रवाई की तलवार लटक रही है। एक ही बैंक खाता और पैन नंबर का उपयोग करके 11 शिक्षक वेतन ले रहे हैं।

इन शिक्षकों की लिस्ट शासन ने बीएसए को भेजी है। बीएसए ने समस्त खंड शिक्षा अधिकारियों को निर्देशित किया है कि इन अध्यापकों को सभी प्रमाण पत्र, आधार, पैन, बैंक पासबुक, जाति-निवास समेत 29 जून को बीएसए कार्यालय पर उपस्थिति सुनिश्चित करावे।

इसमें शिक्षा क्षेत्र रेवती के एक, नगरा के दो, चिलकहर के एक, गड़वार के तीन, सीयर के एक, बेलहरी के एक, रसड़ा के एक और हनुमानगंज के एक शिक्षक शामिल है। शासन की इस कार्रवाई से शिक्षकों में हड़कंप की स्थिति है।


The Netizen News

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]